Friday, September 30, 2022

पयर्टन नगरी धर्मशाला में बना देश में पर्यटन विकास का रोड मैप

Himgiri Samachar:

धर्मशाला, 20 सितम्बर। पयर्टन नगरी धर्मशाला में 18 सितम्बर से 20 सितम्बर तक आयोजित पर्यटन मंत्रियों के तीन दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन में देश में पर्यटन के विकास को लेकर रोड मैप तैयार किया गया। केंद्र सरकार के पर्यटन मंत्रालय द्वारा आयोजित इस सम्मेलन में पयर्टन को नए आयाम देने के साथ-साथ एक दूसरे राज्यों के बीच आपसी तालमेल बनाने पर भी चर्चा की गई।

 

 

 

सम्मेलन के समापन पर केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी कृष्णा रेड्डी ने कहा कि भारत को विश्व की बेेस्ट टूरिस्ट डेस्टीनेशन बनाने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों को मिलकर काम करना होगा। केंद्र ने इसके लिए हर राज्य में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय के कार्यालय खोलने और अधिकारी तैनात करने का निर्णय लिया है। जिस पर अक्तूबर माह में काम शुरू हो जाएगा। देश के विख्यात पर्यटन स्थलों और बड़े होटलों के बाहर तिरंगा स्थापित करने को भी देश भर के मुहिम चलाई जाएगी। अगले दो से तीन दशकों में भारत को विश्व का पसंदीदा पर्यटन केंद्र बनाने के लिए इस तरह के सम्मेलन अहम भूमिका निभाएंगे। देश भर के सभी राज्यों में कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए अलग से पर्यटन वाहन चलाने और पर्यटन सर्किट बनाकर उनमें रेलवे की सुविधा शुरू करने का भी देश भर के राज्य पर्यटन मंत्रियों के राष्ट्रीय स मेलन में आह्ववान किया गया।

 

 

 

उन्होंने कहा कि पर्यटन नगरी धर्मशाला में तीन दिनों तक चले राज्य पर्यटन मंत्रियों के राष्ट्रीय स मेलन में देश में पर्यटन विकास को लेकर जो रोड़ मैप तैयार किया गया है उसे धरातल पर उतारने के लिए आगामी बजट सत्र से पहले नई राष्ट्रीय पर्यटन नीति तैयार करने पर काम किया जाएगा। इस नीति को तैयार करने में यह स मेलन एक अहम भूमिका निभाने वाला है।

 

 

 

तीन दिनों तक धौलाधार की वादियों में पर्यटन विकास को लेकर हुए मंथन का निचोड़ बताते हुए केंद्रीय पर्यटन मंत्री जी कृष्णा रेड्डी ने कहा कि तीन दिनों में पर्यटन विकास को लेकर सभी राज्यों के पर्यटन मंत्रियों एवं प्रतिनिधियों ने कीमती सुझाव दिए हैं। सममेलन में जो मुद्दे उठाए उठाए गए हैं, उन्में आने वाले जी-20 शिखर स मेलन में भी रखा जाएगा। विदेशी पर्यटकों को भारत लाने के लिए यह शिखर स मेलन एक अहम कड़ी रहेगी। पर्यटन मंत्री ने पर्यटन विकास के लिए देश के सभी राज्यों से कालेज से विश्वविद्यालय स्तर तक तथा जिला से तहसील व शहरी क्षेत्रों तक युवा पर्यटन क्लव बनाने का आह्वान किया।

 

 

 

उन्होंने कहा कि देश में पर्यटन को बढ़ाने के लिए राज्य के पर्यटन विभाग सोसल मीडिया को भी हथियार बनाएं। उन्होंने राज्य सरकारों से आह्वान किया कि वह अपने राज्य में किस तरह से पर्यटन विकास को लेकर काम करना चाहते हैं इस बारे में केंद्रीय पर्यटन मंत्रालय को अपने सुझाव भेजें। केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पर्यटन विकास को लेकर सभी की जि मेदारी बनती है कि आने वाले समय में पर्यटक स्थलों का रूख करें।

 

RELATED NEWS

0 Comments

leave a comment